December 4, 2021
Breaking News

पैग़म्बरे-इस्लाम की यौमे-विलादत ईद-मिलादुन्नबी का त्यौहार मुस्लिम-जमात कोटा ने सादगीपूर्ण तरीके से मनाया…मस्जिदे-ताहा में हुई फतिहाखानी-लंगर।

पैग़म्बरे-इस्लाम की यौमे-विलादत ईद-मिलादुन्नबी का त्यौहार मुस्लिम-जमात कोटा ने सादगीपूर्ण तरीके से मनाया…मस्जिदे-ताहा में हुई फतिहाखानी-लंगर।

 

मस्जिदों को रौशनी से सजाया गया..मिलादे-मुस्तुफा मनाई गई..दुर्ग-भिलाई से आए उलेमा की हुई तकरीर..मुस्लिम जमात-कोटा के लोग हुए शामिल।

 

 

सरकार की आमद मरहबा..मुस्लिम-बच्चे-बच्चियो ने अपने घरों के बाहर गली-मोहल्लों में निकाला-जुलूस..लोगो को मुबारक बाद पेश की।

संवाददाता:-मोहम्मद जावेद खान करगी रोड कोटा हरित छत्तीसगढ़।
संवाददाता:-मोहम्मद जावेद खान करगी रोड कोटा हरित छत्तीसगढ़।

*दिनांक:-19/10/2022*

*सवांददाता:-मोहम्मद जावेद खान हरित छत्तीसगढ़ करगी रोड कोटा।।*

 

*करगीरोड-कोटा:-बारह-रबीउल-अव्वल पैग़म्बरे-इस्लाम की यौमे-विलादत (जन्मदिवस)के मुबारक महीने के चांद दिखने के बाद दीगर-मुल्क के इस्लामिक देशों सहित हिंदुस्तान के मुस्लिम-समुदाय में घरों में मस्जिदों में मदरसों में ईद-मिलादुन्नबी के त्यौहार मानने की तैयारी में जुट जाते हैं..फतिहाखानी-लंगर का दौर शुरू हो जाता है..गली-मोहल्लों में बच्चे-बच्चियों के द्वारा हाथों में झंडे लिए नारा लगाते हुए अपनी खुशियों का इजहार करते हैं..एक दूसरे को मोहम्मद साहब के जन्मदिवस की मुबारकबाद पेश करते हैं..मुस्लिम-समुदाय के ईदुल-फितर-ईदुल-अजहा-रमजान शरीफ से बड़े त्यौहार के रूप में पैग़म्बरे-इस्लाम मोहम्मद साहब की यौमे विलादत ईद-मिलादुन्नबी का त्योहार बडे पैमाने पर पूरी दुनिया मे मनाया जाता है।*


जिला-प्रशासन के आदेश में जुलूस की मनाही के बाद कोटा-मुस्लिम-जमात ने जुलूस-रैली नही निकाली:—

*ईद-मिलादुन्नबी पर जिला-प्रशासन के गाइडलाइंस व जुलूस रैली व किसी भी प्रकार के सभा करने की अनुमति नहीं दिए जाने के बाद मुस्लिम समुदाय में काफी रोष दिखाई दिया..मुस्लिम-समुदाय का सबसे बड़े त्यौहार के रूप में जाने-जाने वाला ईद-मिलादुन्नबी का त्यौहार मुस्लिम-समाज के द्वारा बड़े ही पारंपरिक तरीके से मनाया जाता है..पिछले साल कोविड-19 के कारण ईद मिलादुन्नबी का त्यौहार नहीं मना पाए मुस्लिम-समुदाय के द्वारा इस बार आशा की जा रही थी यह पूरे पारंपरिक-तरीके से त्योहार को मनाया जाएगा मगर ठीक-त्यौहार से पहले ही राज्य-वक्फ बोर्ड के आदेश का हवाला देते हुए बिलासपुर जिला-प्रशासन ने जुलूस-रैली पर मनाही की मोहर लगा दी गई..जिससे कि मुस्लिम-समाज में काफी आक्रोश भी दिखा..कही कही पर अनुमति मिलने के बाद आज जुलूस-रैली निकलने की भी खबर सामने आई..कोटा-मुस्लिम समाज के समाज-प्रमुखों के द्वारा भी एसडीएम कोटा को शांतिपूर्ण तरीके से जुलूस व रैली निकालने के लिए ज्ञापन भी सौंपा गया था पर एसडीएम कोटा ने जिला-कलेक्टर के आदेश का हवाला देते हुए जुलूस-रैली की अनुमति नहीं दी गई..जिसके बाद कोटा मुस्लिम जमात के द्वारा जुलूस नही निकाला गया मस्जिद में ही समाज के लोगो की उपस्थिति में फतिहाखानी-लंगर का एहतमाम करते हुए सादगी-पूर्ण तरीके से त्योहार मनाया गया।*


मुस्लिम-समुदाय के छोटे-बड़े-बच्चो ने अपने घरों के बाहर गली-मोहल्लों में जुलूस निकालकर ईद-मिलादुन्नबी की खुशियां मनाई:—

*जिला-प्रशासन के द्वारा जुलूस-रैली की मनाही के बाद कोटा-मुस्लिम-समुदाय के छोटे-बड़े बच्चे-बच्चियां काफी निराश दिखाई दिए..हर साल ईद-मिलादुन्नबी पर नए कपड़े पहनकर हाथों में झंडे लिए न जुलूस में नारा लगाते हुए शामिल होने वालों बच्चों को इस बार जुलूस नही निकलने से काफी निराशा हुई..बच्चो को निराश देख “हरितछत्तीसगढ़”-कोटा सवांददाता मोहम्मद जावेद खान के द्वारा बच्चो की खुशी के खातिर उनके हाथों में झंडे देते हुए घरों के बाहर ही गली-मोहल्लों में बच्चो को जुलूस निकलवाकर उसमें खुद ही शामिल हो गए..जिससे बच्चे-बच्चियां खुश हो गई..जुलूस के बाद बच्चों को चॉकलेट-बिस्किट भी दिया गया..जिससे कि बच्चे और भी ज्यादा खुश हो गए।*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *