December 5, 2021
Breaking News

रायपुर में आधी रात सड़को पर निकली लड़कियों का हुजूम, बोलीं- मेरी रात-मेरी सड़क

हरित छत्तीसगढ़ रायपुर//छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में मेरिन ड्राइव में रात के बारह बजे हाथो में तख्तियां थामे सैकड़ो  महिलाये  व लड़किया एक ही सवाल पूछती  थी की क्या रात और सड़क लड़कियों के लिए नहीं है। रायपुर में  ‘मेरी रात-मेरी सड़क’ अभियान चलाया गया । शनिवार रात नौ बजे से ही तैयारी शुरू हो गई। ठीक रात 11 बजे मेरिन ड्राइव की सड़को पर  महिलाएं रात को पैदल चलीं।  इस अभियान में शहर के कई स्टूडेंट के अलावा कामकाजी लड़कियां,  सोशल वर्कर्स भी शामिल हुईं।

सड़कों पर अपना हक जताने रात में निकलीं महिलाएं

आजकल आये दिन सार्वजनिक जगहों पर महिला-असुरक्षा संबंधित घटनाओं को अंजाम दिया जाता है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि महिला के खिलाफ होने वाली हिंसा के संदर्भ हमेशा दोष महिला को दिया जाता है। इस दौरान रायपुर में मेरी रात मेरी सड़क केम्पेन की महिला रौशनी गोस्वामी ने बताया की यह एक गैर राजनितिक मुहीम है जिसका एक मात्र उद्देश्य महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ाते हुए जागरूक करना कि समाज के दूसरे वर्गों की तरह महिलाओं का भी समानता से उनके देश, शहर, मोहल्ले और सड़क पर उतना ही अधिकार है और वे अपना जीवन अपने अनुसार जीने का अधिकार अधिकार रखती है। केम्पेन की महिला दुर्गा झा ने बताया की यह एक कोशिश है जिसके द्वारा सड़कों पर महिलाओं की स्थिति सहज करने की कोशिश की जा रही है।

                                          क्या लड़कियों के लिए रात और सड़क नहीं है  

शशि यादव ने बताया की  हर घटना के बाद भारतीय समाज में सबसे पहले सवाल पूछा जाता हैं के वो बाहर सड़क या रास्ते में क्यो थी, क्या कर रही थी? उन्होंने कहा की इस मुहिम को शुरू करने का हमारा ये उद्देश्य है कि हम चाहते हैं कि सड़कें महिलाओं के साथ सहज हों. यानि किसी भी वक्त सड़क पर महिलाओं की उपस्थिति से किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए.’इस मार्च में हिस्सा लेने आई एक महिला ने कहा, ‘एक रात को इस तरह का जुलूस निकालने से बदलाव हो जाए, ऐसा नहीं हो सकता. लेकिन ये शुरुआत होना बहुत जरूरी है, ताकि लोगों को ये बताया जा सके कि पुरुषों की तरह ही महिलाओं को भी किसी भी वक्त घर से बाहर रहने का अधिकार है.’ सिन्दुरिया मेंम ने बताया की राजधानी रायपुर  में लड़कियां और महिलाएं शनिवार की रात  सडकों पर उतरीं, ये पूरी तरह गैर राजनीतिक केम्पेन है, और इसका मकसदसामाजिक जागरूकता फैलाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *