August 3, 2021
Breaking News

प्रदेश के शिक्षा कर्मी अब सरकार के खिलाफ असहयोग आंदोलन की राह पर

प्रदेश के शिक्षा कर्मी अब सरकार के खिलाफ असहयोग आंदोलन की राह पर

हरितछत्तीसगढ़ रायपुर। प्रदेश के शिक्षाकर्मी हड़ताल से निशर्त हड़ताल वापसी के बाद सरकार द्वारा मिल रहे तुगलकी फरमान के खिलाफ अब एकजुट होकर नए सिरे से बगैर किसी आंदोलन के सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करते नजर आ रहे हैं जहां शिक्षा कर्मियों ने सरकार से मिले निर्देश योग प्रशिक्षण शिविर और बायोमेट्रिक अटेंडेंस का मौन रहकर विरोध जताते नजर आ रहे हैं वही इससे पूर्व बाथरूम की सफाई का निरीक्षण कर फोटो भेजने को लेकर भी विरोध दर्ज करा चुके हैं जिससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि अब शिक्षाकर्मी सरकार के खिलाफ नई रणनीति के तहत लड़ाई करने के मूड में है यदि इसे सरकार के खिलाफ असहयोग आंदोलन नाम दिया जाए तो कोई बड़ी बात नहीं।विदित हो कि संविलियन और नियमित वेतन नही दिए जाने से नाराज शिक्षकर्मी हड़ताल के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा बनाये गए दवाब के बाद हड़ताल से वापसी के बाद से यह नाराजगी ओर बढ़ गयी है इसके बाद शिक्षाकर्मियों ने अपनी नई रणनीति के तहत लगातार मिल रहे तुगलकी फरमान को दरकिनार कर ना शुरू कर दिया है जिसे सरकार के खिलाफ असहयोग आंदोलन माना जाने लगा है।शिक्षा कर्मियों का मानना है कि सरकार ने पहले उनके आंदोलन को कुचलने की कोशिश की और अब अव्यवहारिक व तुगलकी निर्देश निकाल कर शिक्षाकर्मियों को प्रताड़ित किया जा रहा है। बताया जा रहा कि इस रणनीत के तहत उन्होंने योग प्रशिक्षण शिविर का बहिष्कार कर दिया है। इसके अलावा वे बायोमेट्रिक अटेंडेंट्स का भी विरोध कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *