September 24, 2021
Breaking News

अब मोबाइल वाले बाबा के नाम से जाने जाएंगे डॉ रमन सिंह’ नेट परियोजना के एमओयू पर हस्ताक्षर

‘अब मोबाइल वाले बाबा के नाम से जाने जाएंगे डॉ रमन सिंह’ नेट परियोजना के एमओयू पर हस्ताक्षर

रायपुर. प्रदेश में राजधानी रायपुर में भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण के लिए परस्पर समझौते के ज्ञापन (एमओयू) पर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने आज हस्ताक्षर किए। भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण के लिए हुआ एमओयू, इस मौके पर केंद्रीय संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा- की डॉ रमन अब मोबाइल वाले बाबा के नाम से जाने जाएंगे ,परियोजना के जरिए गांवों और शहरों के बीच डिजिटल दूरी कम करने के लिए और गाँवो को शहरों के करीब लाने के लिए इंटरनेट कनेक्टिविटी का विस्तार किया जाएगा ।केंद्रीय संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में ये दूसरी महत्वपूर्ण तारीख होगी। अटलजी ने हाईवे के लिए काम किया अब इन्फॉर्मेशन हाईवे पर काम कर रहे हैं। भारत नेट के पहले चरण में 1 लाख ग्राम पंचायतों का काम पूरा हो गया है। अब दूसरे चरण में 1. 5 लाख ग्राम पंचायतों को जोड़ा जा रहा है। इस चरण में 8 राज्य खुद इस काम को कर रहे हैं जिसमें छत्तीसगढ़ सबसे ऊपर है।
इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंग ने कहा कि कुछ दिनों पहले नारायणपुर के अबूझमाड़ में जब मेरी हेलीकाफ्टर उतरा, तो मैंने वहां के लोगों से पूछा कि अब कि बार मुख्यमंत्री बनूँगा तो आप लोगों को क्या चाहिए। सामान्यत लोग आवास, सड़क लाइट की मांग करते हैं, लेकिन वहां के लोगों के एक सुर पर मोबाइल कनेक्टिविटी कि मांग की। आज प्रदेश को भारत नेट परियोजना की सौगात मिलने जा रही है, जिससे निश्चित ही अबूझमाड़ के आखिरी गांव में मोबाइल कनेक्टिविटी में सुधार आएगी। उस दिन मैंने भी यही सपना देखा था कि मैं उस अबूझमाड़ के आखिरी गांव में बैठकर मोबाइल से बात करूँ।आज हम उस सपने को पूरा करने आगे बढ़ रहे हैं.

इस एमओयू पर केंद्र सरकार के दूर संचार विभाग और भारत ब्रॉड बैण्ड नेटवर्क, राज्य सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग तथा छत्तीसगढ़ इन्फोटेक एवं बायोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) के अधिकारी ने हस्ताक्षर किए। केंद्र सरकार की भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण में छत्तीसगढ़ के 85 विकासखण्डों की पांच हजार 987 ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ा जायेगा।

बता दें कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की विशेष पहल पर वर्तमान में राष्ट्रीय ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क के प्रथम चरण में छत्तीसगढ़ के 64 विकासखण्डों की चार हजार 104 ग्राम पंचायतों में भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) द्वारा ऑप्टिक फाइबर कनेक्टिविटी देने का कार्य किया जा रहा है। इनमें से 1800 ग्राम पंचायतों में यह कार्य पूर्ण कर लिया गया है.इस अवसर पर प्रिंसिपल सेकेट्री अमन सिंह ने बताया कि भारत नेट परियोजना से आम जनता, समाज और सरकार तीनों को फायदा होगा। इससे लोगों के दिन-प्रतिदिन का काम-काज काफी सुविधाजनक हो जाएगा। दूर संचार नेटवर्क के विस्तार से ग्राम पंचायतों के स्तर पर आपात परिस्थितियों में टोल फ्री नम्बर 108 पर आधारित संजीवनी एक्सप्रेस एम्बुलेंस और टोल फ्री नम्बर 102 पर आधारित महतारी एक्सप्रेस की सेवाएं जरूरतमंद लोगों को जल्द से जल्द मिल सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *