September 17, 2021
Breaking News

खदान में गिरने से मजदूर की मौत,अवैध खनन नीति बना मौत की कारण ।

खदान में गिरने से मजदूर की मौत  अंधी प्रशासन की अवैध खनन नीति बना मौत की कारण ।

फाइल फोटो

हरितछत्तीसगढ़ रौशन वर्मा

अंबिकापुर:-  जिले के धौरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम चंगोरी में स्थति बाबा दुर्गानाथ क्रेसर की गिट्टी खदान में गिरने से मजदूर की मौत हो गई है। प्रशासन की अनदेखी और आला अफसरो की कमीशन खोरी इस हद तक जा चुकी है कि वहां काम कर कर रहे श्रमिक भी सुरक्षीत नहीं है ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के धौरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम चंगोरी में स्थति बाबा दुर्गानाथ क्रेसर की गिट्टी खदान में गिरने से मजदूर की मौत हो गई है।  यह खदान लगभग 10 से 12 मीटर तक खोद दी गई जबकि नियमानुसार 6 मीटर तक ही गड्ढा खोदने की अनुमति होती है।   गहराई अधिक होने की वजह से यह मौत हुईं ।  खनिज नियमो के अनुसार गिट्टी खदानों  को उस क्षेत्र में  महज 6 मीटर तक ही गड्ढा खोदने की अनुमति रहती है । लेकिन विभाग से अंदेखी कहे या फिर कमीशनखोरी का परिणाम है की क्रेसर संचालक मनमौजी तरीके से खनिज का दोहन कर रहे है । खोदे गए गड्ढे का सवाल इसलिए खड़ा हो रहा है क्योकी अगर खदान १२ से १० मीटर ना खोदकर नियमतः ६ मीटर ही खोदी गई होती तो इसमें गिरने से भी शायद इस मजदूर की मौत नही होती । ज्ञात हो कि बाबा दुर्गानाथ नामक क्रेसर के संचालक मनोज अग्रवाल है , जिनके गिट्टी खदान में यह हादसा हुआ है।
क्षेत्र में क्रेसर बन रहे मौत की वजह
खदान में गिरकर मजदूर की मौत हुई है , वही पिछले सप्ताह इसी क्षेत्र में गिट्टी का परिवहन कर रहा ट्रक एक  के घर में घुस गया था जिससे घर में एक की मौत हो गई थी, वही चार छोटे छोटे बच्चे घायल हो गए थे, लिहाजा क्रेसर संचालको की लारवाही का खामियाजा बेक़सूर ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। इधर खदानो में ब्लास्टिंग और सड़क व आबादी वाले क्षेत्र में क्रेसर की डस्ट से भी लोगो का जीना मुहाल हो गया है। तय है की स्टोन डस्ट अगर स्वसन नली से शरीर में प्रवेश कर रही है तो उसके बड़े ही हानिकारक परिणाम है लेकिन ये सब प्रशासन की नाक के नीचे चल रहा है और जिम्मेदार खनिज विभाग धृतराष्ट्र बना हुआ है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *