October 22, 2021
Breaking News

2019 नहीं 2018 में ही होंगे लोकसभा चुनाव

देश के प्रमुख अखबारों में छपी खबर के मुताबिक, अधिक से अधिक राज्यों में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव करवाए जाने की संभावना है और इसको लेकर चर्चाएं होनी भी शुरू हो चुकी है। उम्मीद की जा रही है कि अगले लोकसभा चुनाव साल के अंतिम दो महीनों यानि नवंबर और दिसंबर में करवाए जा सकते हैं। संविधान में भी इस बात को मंजूरी मिली है कि चुनाव आयोग अपनी सुविधानुसार ‘समय पूर्व’ चुनाव करा सकता है वही पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और प्रधानमंत्री मोदी भी कई बार कह चुके हैं कि देश में लोकसभा और विधानसभा के चुनाव जहां संभव हो वहां एक साथ होने चाहिए समय पूर्व लोकसभा चुनाव पर माहौल बनाना शुरू हो गया है यदि सभी दल  एकमत हो जाते हैं तो कई राज्यों के विधानसभा चुनाव भी एकसाथ हो सकते हैं. दरअसल मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम की विधानसभाओं का कार्यकाल नवंबर-दिसंबर 2018 में समाप्त हो रहा है. इसके अलावा तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और ओडिशा जैसे राज्यों में भी विधानसभा चुनाव इन प्रस्तावित चुनावों के साथ करवाए जा सकते हैं. इन राज्यों की विधानसभा का कार्यकाल अप्रैल 2019 तक है. माना जा रहा है कि अगर इस प्रक्रिया को अगले लोकसभा चुनावों से लागू कर दिया जाए तो 10 साल में ज्यादातर राज्यों में विधानसभा चुनाव लोकसभा के साथ ही होंगे.बता दें कि मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम की विधानसभाओं का कार्यकाल नवंबर-दिसंबर 2018 में समाप्त हो रहा है। इसके अलावा तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और ओडिशा जैसे राज्यों में भी विधानसभा चुनाव इन प्रस्तावित चुनावों के साथ करवाए जा सकते हैं। हालांकि इन राज्यों की विधानसभा का कार्यकाल अप्रैल 2019 तक है। अगले साल नवंबर-दिसंबर में खत्म हो रहे 4 विधानसभाओं में महज मिजोरम ही है जहां बीजेपी सत्तासीन नहीं है। इसके अलावा ओडिशा में बीजेडी और आंध्र प्रदेश में टीडीपी को 2014 की मोदी लहर का फायदा जमकर हुआ था। इस वजह से इस बात की उम्मीद ज्यादा है कि लगभग सभी राज्यों में ‘समयपूर्व’ चुनाव की सहमति बन जाएगी।

रिपोर्ट के मुताबिक, विधानसभा और लोकसभा चुनाव एक साथ ही कराए जा सकते हैं। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि अधिक से अधिक राज्यों में लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा के चुनाव कराए जाने पर चर्चा शुरु हो चुकी है। यह माना जा रहा है कि विधानसभा और लोकसभा चुनाव को समकालीन बनाने के लिए लोकसभा चुनाव 2019 में नहीं बल्कि, अगले साल ही 2018 के नवंबर दिसंबर में हो सकते हैं।

आपको बता दें कि काफी लंबे समय से यह मांग उठ रही है कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव को एक साथ कराया जाए। केन्द्र सरकार और खुद मोदी भी कई बार लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ कराए जाने की वकालत कर चुके हैं। इसलिए ऐसी संभावना बन रही है कि लोकसभा चुनाव अगले साल ही हो सकते हैं। गौरतलब है कि अगले ही साल छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान,मिजोरम और कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *