September 25, 2021
Breaking News

15 सालों में अमेरिका ने PAK को दी 208461 करोड़ की मदद, अब डोनाल्ड ट्रंप ने कहा PAK हमें मूर्ख समझता है, उसे मदद देना बेवकूफी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान के खिलाफ सोमवार को कड़ा रुख इख्तियार किया है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा हम पाकिस्तान की अब कोई मदद नहीं करेंगे।पाक ने हमारे नेताओं को मूर्ख समझा। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को 33 अरब रुपये की वित्तीय मदद दी, लेकिन उसने धोखा दिया। नए साल पर पाकिस्तान को सबसे बड़ा झटका लगा है। उसके सबसे बड़े मददगार अमेरिका ने उसे आर्थिक मदद देने से मना कर दिया है। राष्ट्रपति डोनॉलड ट्रंप ने ऐलान करते हुए कहा कि आतंकवाद के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। ट्रंप ने कहा, ‘अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण ढंग से बीते 15 सालों में पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर की सहायता दी है। लेकिन पाकिस्तान ने मदद के बदले झूठ और धोखा दिया है।

ट्रंप के इस बयान के बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 255 मिलियन डॉलर की सेन्य मदद पर रोक लगा दी है। ट्रंप ने कहा कि पिछले 15 सालों में पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर से ज्यादा की सहायता दे चुका है। मत्लब आतंकवाद पर लगाम लगाने के लिए पाकिस्तान को अमेरिका की ओर से  पिछले डेढ़ दशक में 2 लाख 8 हजार 461 करोड़ रूपये की मदद कर चुका है। इतनी सहायता देने के बाद भी अतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान के रुख से अमेरिका खुश नहीं है।

पाकिस्तान का सालाना  डिफेंस बजट 8.7 अरब डॉलर है। पिछले 15 सालों में इसका चार गुनाह वो अमेरिका से वसूल कर चुका है। बता दें कि भारत से विभाजन के बाद से पाकिस्तान बना है उसके बाद से ही अमेरिका उससे मदद देता आ रहा है। लेकिन इस मदद में उस वक्त इजाफा किया गया जब 2001 में अमेरिका पर आतंकी हमला हुआ। इसके बाद अमेरिका के एक रिसर्च थिंक टैंक सेंटर फॉर ग्लोबल डवलपमेंट (CGD) की रिपोर्ट में बताया गया है कि 1951 से लेकर साल 2011 तक अलग अलग भागों में अमेरिका ने पाकिस्तान को 67 बिलियन डॉलर की मदद दी है।

ओबामा काल में दी थी इतनी मदद  

बराक ओबामा के शासनकाल 2009 में पाकिस्तान की मदद के लिए एख विधेयक पास किया गया था जिसका नाम कैरी वुगर विधेयक (एनहेन्स्ड पार्टनरशिप विद पाकिस्तान एक्ट ऑफ 200) पास किया गया था।  पांच सालों में साल 2010 से लेकर 2014 में साढ़े सात अरब अमेरिकी डालर की असैनिक मदद वाले कैरी लुगर विधेयक को  व्हाइट हाउस ने पाकिस्तान के लिए व्यापक समर्थन की ठोस अधिव्यक्ति बताया था। आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने पाक की नीयत पर सवाल उठाए हों। इससे पहले बीते साल भी अमेरिका ने पाकिस्तान को कई बार आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *