September 24, 2021
Breaking News

जशपुरः महुआ,मुंगफल्ली व धान से लदे तीन वाहन मंडी शुल्क चोरी करते पकड़े गए,पत्थलगांव प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई

जशपुरः महुआ,मुंगफल्ली व धान से लदे तीन वाहन मंडी शुल्क चोरी करते पकड़े गए,पत्थलगांव प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई


हरित छत्तीसगढ़ विवेक तिवारी पत्थलगांव। पत्थलगांव प्रशासन व मंडी कर्मचारियों ने पत्थलगांव क्षेत्र मे बड़ी कार्रवाई करते हुए मुंगफल्ली,महुआ व धान से भरे तीन वाहन जब्त किए हैं, जिसमें लाखों रुपए की कीमत का धान मुंगफल्ली व महुआ गेहूं भरा था। इन वाहनों से मंडी टैक्स चोरी करने पर शुल्क का पांच गुना मण्डी शुल्क, समझौता शुल्क वसूली की गई। पत्थलगांव प्रभारी एसडीएम भगत व तहसीलदार मायानंद चंद्रा ने तीनों वाहन पर मौके पर ही कार्रवाई करते हुए जुर्माना वसूलते हुए धान के वाहन को जब्ती बनाते हुए अग्रीम कार्रवाही हेतु प्रेषित किया है। मंडी टैक्स चोरी कर अवैध रूप से निर्यात हो इन वाहनों में काफी मात्रा मे मुंगफल्ली व महुआ भरे हुए थे वहीं एक अन्य वाहन पुरी तरह धान से लदी हुई थी।
पत्थलगांव प्रभारी एसडीएम भगत व तहसीलदार मायानंद चंद्रा व मंडी अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा पत्थलगांव नेशनल हाईवे पर स्थित अम्बिकापुर रोड फुलैता चैक पर चेकिंग की। इस दौरान इन वाहन चालकों से परिवहन संबधित कागजात की मांग किए जाने पर किसी भी प्रकार का वैध कागज नही दिखाए जाने पर यह कार्रवाई कि गई वाहन में मौजूद ड्रायवरों के कथन के आधार पर पंचनामा बनाया। कार्रवाई के दौरान पकड़े गए वाहनों मे एक वाहन मे 40 क्विंटल महुआं और एक वाहन मे 25 क्विंटल मुगंफल्ली दाना पाया गया जिनसे मंडी अधिनियम 1972 की धारा 19(4) पांच गुना मंडी शुल्क समझौता शुल्क महुआ वाहन जो पत्थलगांव से सुखरापारा की ओर जा रहा था उससे 4940 रूपए एंव मुंगफल्ली दाना जो रायगढ़ से अम्बिकापुर जा रहा था उससे 7125 रूपए की वसुली की गई साथ ही धान से लदे वाहन को अग्रिम कार्यवाही के लिए प्रेषित  किया जा रहा है।

इसी तरह रोजाना कार्रवाई हो तभी थमेगा अवैध परिवहन
विदीत हो कि सूखे की स्थिति के बावजूद जिले में हर साल धान की बंपर खरीदी हो रही है। पड़त भूमि के खाते से धान बेचने के अलावा पड़ोसी राज्य से लगातार धान की सप्लाई की जा रही है।प्रदेश मे मिलने वाले धान बोनस के लालच मे दलालों द्वारा बाहरी राज्यों से यहां धान भंडारण का सिलसिला दीपावली के बाद से शुरू कर दिया जाता है जो सर्मथन मुल्य तक होने वाली धान खरीदी अनवरत जारी रहता है।यही वजह है की समर्थन मूल्य में खरीदे जा रहे धान के अलावा हर किसानों की संख्या और रकबा में बढ़ोत्तरी हो रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *