September 25, 2021
Breaking News

ऐसी क्या बात है इस ग्रन्थ गीता में जो हरियाणा सरकार ने एक गीत 38 हजार में खरीदा:घोटाला का आरोप

ऐसी क्या बात है इस ग्रन्थ गीता में जो हरियाणा सरकार ने एक गीत 38 हजार में खरीदा:घोटाला का आरोप
हिसार।हरियाणा सरकार पर धार्मिक ग्रंथ गीता की खरीद में अनिमियतता घोटाले का अारोप लगा है।हिंदुओं का धार्मिक ग्रंथ गीता कम रेट में भी मार्केट में उपलब्ध है, लेकिन सरकार ने आस्था के नाम पर लाखों रुपये अदा कर गीता ग्रंथ की प्रतियां खरीदीं। जाहिर है कि गीता ग्रंथ खरीद में न केवल भारी अनियमितताएं बरती गई, बल्कि जनता के खून-पसीने की कमाई पानी की तरह बहाई गई। सांसद दुष्यंत ने यह आरोप लगाते हुए इसकी जांच की मांग की है। यहां जारी बयान में चौटाला ने सूचना अधिकार के माध्यम से गीता ग्रंथ खरीद का खुलासा करते हुए कहा है कि गीता ग्रंथ की 10 प्रतियां 3 लाख 79 हजार 500 रूपये में खरीदी गई यानि कि एक गीता की कीमत 37 हजार रूपये से अधिक है। उन्होंने इतनी मंहगी गीता पुस्तक खरीदने पर सवाल खड़े किए हैं जबकि बाजार में इससे काफी कम कीमत पर गीता की पुस्तक उपलब्ध है। उन्होंने कहा है कि प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में तो गीता प्रेस गोरखपुर वाले 40 रुपये में एक गीता उपलब्ध करवा रहे हैं जबकि ऑन लाइन पर गीता की पुस्तक 200 से 300 रूपये में उपलब्ध है और अन्य कई प्रकार की गीता की पुस्तकें काफी कम कीमत पर उपलब्ध हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार से पूछा है कि ऐसा इस ख्ररीदी गई गीता की पुस्तक में क्या था जिसके लिए इतनी भारी कीमत अदा की गई।
श्री चौटाला ने आरोप लगाया कि हिंदुओं का धार्मिक गीता ग्रंथ कम कीमत पर बाजार में उपलब्ध है परन्तु सरकार ने आस्था के नाम पर लाखों रूपये अदा कर गीता ग्रंथ की प्रतियां खरीदीं। जाहिर है कि गीता ग्रंथ खरीद में न केवल भारी अनियमितताएं बरती गई बल्कि जनता के खून पसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *