September 24, 2021
Breaking News

कमिश्नर चम्पावत ने आवेदन पत्र संकलन केन्द्रों का किया अवलोकन 

कमिश्नर चम्पावत ने आवेदन पत्र संकलन केन्द्रों का किया अवलोकन

ग्रामीणजनों की समस्याओं की ली जानकारी

हरितछत्तीसगढ़ रौशन वर्मा अम्बिकापुर :- प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान ‘‘ लक्ष्य समाधान‘‘ के पहले चरण के दूसरे दिन सरगुजा संभाग के कमिश्नर श्री अविनाश चम्पावत ने आज सूरजपुर जिले के सूरजपुर जनपद पंचायत के ग्राम करतमा और सम्बलपुर के आवेदन पत्र संकलन केन्द्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने ग्रामीणजनों से उनकी समस्याओं के बारे में पूछताछ की। कमिष्नर ने आवेदन पत्र संकलन केन्द्रों में प्राप्त हुए आवेदनों के बारे में भी पंचायत सचिवों से जानकारी प्राप्त की।

कमिश्नर श्री चम्पावत ने वहां उपस्थित ग्रामीणों से आत्मीयता से बातचीत कर उनकी समस्याओं एवं शिकायतों के बारे में जानकारी प्राप्त की। ग्राम करतमा के सरपंच श्री दुबराज सिंह और ग्रामीणजनों ने कमिष्नर को बताया कि उनके गांव में एक नाला बंधान का कार्य हो रहा है जो वन विभाग से फारेस्ट क्लियरेंस नहीं मिल पाने के कारण अधूरा पड़ा हुआ है। उन्होंने उस अधूरे नाला बंधान को शाघ्र पूर्ण कराने की मांग की तथा किसानों के लम्बित मुआवजा भुगतान कराने की भी मांग की। ग्राम करतमा के आवेदन पत्र संकलन केन्द्र में तीन आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें सुश्री रामेष्वरी पैकरा ने पेंषन के लिए, श्री आलम दास ने फर्जी रजिस्ट्री के संबंध में और श्री सुरजीत सिंह ने पेंषन के लिए आवेदन किया है। कमिष्नर ने ग्राम सम्बलपुर के आवेदन पत्र संकलन केन्द्र का भी अवलोकन किया और ग्रामीणजनों से उनकी समस्याओं के बारे में पूछताछ की। कमिष्नर ने ग्रामीणजनों को आमदनी बढ़ाने के लिए धान की खेती करने के साथ ही साक-सब्जी की खेती करने तथा दुधारू पषु पालने का भी सुझाव दिया। सम्बलपुर के आवेदन पत्र संकलन केन्द्र में कल 22 आवेदन प्राप्त हुए थे और आज दूसरे दिन दोपहर तक 23 विभिन्न मांगों से संबंधित आवेदन प्राप्त हुए थे।

कमिष्नर ने विभिन्न निर्माण कार्यो का लिया जायजा

कमिश्नर श्री चम्पावत ने लोक सुराज अभियान ‘‘लक्ष्य समाधान‘‘ के तहत आवेदन पत्र केन्द्रों का अवलोकन करने के साथ ही आज सूरजपुर जनपद पंचायत के ग्राम करतमा और सम्बलपुर में विभिन्न निर्माण कार्यो का जायजा लिया। उन्होंने ग्राम करतमा के ग्रामीण श्री रामसाय की जमीन पर निर्माणाधीन डबरी का अवलोकन किया और श्री रामसाय की पत्नी श्रीमती अनिता से पूछा कि वे किन-किन फसलों की खेती करते हैं। कमिश्नर ने श्रीमती अनिता को इस डबरी में बरसात के दिनों में मछली पालन करने का भी सुझाव दिया। कमिश्नर ने ग्राम करतमा में प्रधानमंत्री आवस योजना के तहत निर्माणाधीन विभिन्न आवासों का भी जायजा लिया तथा शौचालयों के उपयोग के बारे में भी ग्रामीणजनों से पूछताछ की। कमिश्नर ने सिलफिली में निर्माणाधीन दुग्ध संग्रहण केन्द्र और दुग्ध पार्लर सेंटर का अवलोकन किया तथा इसके सफल संचालन की कार्य योजना के बारे में पूछताछ की। ग्रामीणजनों ने बताया कि सिलफिली के हर घर में दुधारू पषु पाले गए हैं, जिससे असानी से दूध की उपलब्धता हो सकेगी। कमिष्नर ने आदिम जाति सेवा सहकारी समिति सिलफिली के धान खरीदी केन्द्र का अवलोकन किया और धान को सुरक्षित रखने के लिए तिरपाल (केप कव्हर) की उपलब्धता के बारे में पूछताछ की। उन्होंने खरीदे गए धान को सुरक्षित रखने के लिए भण्डारण स्थल पर पर्याप्त नाली निर्माण कराने और धान के बोरों के नीचे पर्याप्त मात्रा में भूसा रखने के भी निर्देष दिए।

कमिष्नर श्री चम्पावत ने ग्राम सम्बलपुर में शासकीय उचित मूल्य दुकान का अवलोकन किया तथा ग्रामीणजनों से खाद्यान्न सामग्री की उपलब्धता के बारे में पूछताछ की। कमिश्नर ने उचित मूल्य दुकान के भाण्डारण केन्द्र का जायजा लिया और वहां उपलब्ध चावल, शक्कर और पौष्टिक चना का भी अवलोकन किया। ज्ञातव्य है कि इस उचित मूल्य दुकान के तहत 498 राशन कार्डधारी हैं। पंचायत सचिव द्वारा उचित मूल्य दुकान से राषन प्रदान करने के समय ही ग्रामीणजनों से मकान टेक्स वसूली की कार्यवाही भी की जा रही थी। कमिष्नर ने आंगनबाड़ी केन्द्र का भी निरीक्षण किया तथा आंगनबाड़ी के बच्चों से पूछा की उन्हें आज खाने में क्या दिया गया। इस पर बच्चों ने बताया कि खिचड़ी और सब्जी दी गई थी। इस आंगनबाड़ी केन्द्र में आज 11 बच्चे उपस्थित थे। कमिश्नर ने सम्बलपुर के कृषक श्री मोहरलाल की डबरी का भी अवलोकन किया। कृषक श्री मोहरलाल ने बताया कि वह धान और साक-सब्जी की खेती करने के साथ ही इस डबरी में मछली पालन भी करता है।

सूरजपुर कलेक्टर श्री के.सी. देव सेनापति ने बताया कि 5 हजार लीटर की क्षमता वाले दुग्ध संग्रहण केन्द्र का निर्माण कराया जा रहा है और इसके तैयार हो जाने से गौ पालक किसानों को दूध का उचित कीमत मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि सूरजपुर जिले में इस वर्ष 5 हजार कुओं का निर्माण कराने का लक्ष्य रखा गया है तथा पिछले वर्ष निर्मित 215 कुओं में सिंचाई के लिए हितग्राहियों को सौर सुजला योजना के तहत पम्प उपलब्ध कराए जाएंगे। कलेक्टर ने बताया कि डबरी निर्माण के लिए 3 लाख रूपए उपलब्ध कराए जा रहे हैं और डबरी बनने के बाद बरसात के दिनों में उन्हें पहले वर्ष निःषुल्क मछली बीज उपलब्ध कराने की योजना है। इस अवसर पर जिला पंचायत सूरजपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संजीव कुमार झा और सूरजपुर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री वेद प्रकाश पाण्डेय भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *