September 24, 2021
Breaking News

चावरा स्कूल में महापुरुषों की तस्वीर नही होने से एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने दिया प्रबंधन को अल्टीमेटम* 5 दिनों में तस्वीर नही लगाई तो करेंगे उग्र आंदोलन : अभाविप स्कूल परिसर में नही है , स्वामी विवेकानंद , सरस्वती व अन्य महापुरुषों की तस्वीर स्कूल प्रबधंन पर लगाया अपमान व भेदभाव का आरोप पालकों व विद्यार्थियों में भी है नाराजगी जगदलपुर /भानपुरी बस्तर विख के भानपुरी इलाके में मिशनरी संस्था द्वारा संचालित चावरा इंग्लिश मीडियम पर स्थानीय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए , महापुरुषों के साथ धर्मिक भेदभाव का आरोप लगाया है, अभाविप कार्यकर्ताओं ने संस्था की मंशा पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि स्कूल में स्वामी विवेकानंद एवं ज्ञान की देवी सरस्वती व कई महापुरुषों के तस्वीर क्यों नही लगी है, स्कूल में केवल मिशनरी मान्यताओ के तस्वीर व स्टेच्यू सजाई गई है। अभाविप के द्वारा सोमवार को लिखित रूप में स्कूल प्रबंधन से शिकायत की गई है और 5 दिवस का अल्टीमेटम दिया गया है, एवं नही लगाने की कोई वजह हो तो लिखित मांग भी की गई है । ज्ञात हो की पहले भी ऐसे मामले जगदलपुर के निजी संस्थानों में आये थे। अभाविप के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कमलेश दीवान ने कहा कि निजी संस्थाओ द्वारा संचालित स्कूल हमेशा अपनी मनमानी करते हैं , ऐसे संस्थाओं की मंशा पर सवाल उठता है ,महापुरुषों की तस्वीर स्कूलों में नही लगाने का तात्पर्य हमारे महापुरुषों का अपमान है, एवं अशोभनिय कृत्य है, निंदनीय है । अभाविप के नगर मंत्री जागेश्वर कश्यप ने बताया कि स्कूल प्रबंधन को पहले भी इस विषय पर मौखिक रूप चर्चा कर महापुरुषों की तसवीर लगाने को कहा गया था,लेकिन प्रबधन ने कोई पहल नही किया है, आज लिखित रूप से एवं अंतिम अल्टीमेटम दिया गया है, यदि दिए गए समयावधि में तस्वीरे नही लगी तो अभाविप उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगा एवं इसका जिम्मेदार स्कूल प्रबंधन व सम्बंधित अधिकारी होंगे । इस दौरान अभाविप के नगर सह मंत्री लखेश्वर वैध , रितेश यादव, अभिषेक राव, उमेश , नरेंद्र कश्यप, जसकेतन सेठिया, पुष्पेंद्र दीवान, सचिन उइके ,ओमप्रकाश कश्यप,महेंद्र देवांगन समेत अभाविप कार्यकर्ता उपस्थित थे।

चावरा स्कूल में महापुरुषों की तस्वीर नही होने से एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने दिया प्रबंधन को अल्टीमेटम

5 दिनों में तस्वीर नही लगाई तो करेंगे उग्र आंदोलन : अभाविप

स्कूल परिसर में नही है , स्वामी विवेकानंद , सरस्वती व अन्य महापुरुषों की तस्वीर

स्कूल प्रबधंन पर लगाया अपमान व भेदभाव का आरोप

पालकों व विद्यार्थियों में भी है नाराजगी

जगदलपुर /भानपुरी
बस्तर विख के भानपुरी इलाके में मिशनरी संस्था द्वारा संचालित चावरा इंग्लिश मीडियम पर स्थानीय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए , महापुरुषों के साथ धर्मिक भेदभाव का आरोप लगाया है, अभाविप कार्यकर्ताओं ने संस्था की मंशा पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि स्कूल में स्वामी विवेकानंद एवं ज्ञान की देवी सरस्वती व कई महापुरुषों के तस्वीर क्यों नही लगी है, स्कूल में केवल मिशनरी मान्यताओ के तस्वीर व स्टेच्यू सजाई गई है।

अभाविप के द्वारा सोमवार को लिखित रूप में स्कूल प्रबंधन से शिकायत की गई है और 5 दिवस का अल्टीमेटम दिया गया है, एवं नही लगाने की कोई वजह हो तो लिखित मांग भी की गई है । ज्ञात हो की पहले भी ऐसे मामले जगदलपुर के निजी संस्थानों में आये थे।

अभाविप के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कमलेश दीवान ने कहा कि निजी संस्थाओ द्वारा संचालित स्कूल हमेशा अपनी मनमानी करते हैं , ऐसे संस्थाओं की मंशा पर सवाल उठता है ,महापुरुषों की तस्वीर स्कूलों में नही लगाने का तात्पर्य हमारे महापुरुषों का अपमान है, एवं अशोभनिय कृत्य है, निंदनीय है ।
अभाविप के नगर मंत्री जागेश्वर कश्यप ने बताया कि स्कूल प्रबंधन को पहले भी इस विषय पर मौखिक रूप चर्चा कर महापुरुषों की तसवीर लगाने को कहा गया था,लेकिन प्रबधन ने कोई पहल नही किया है, आज लिखित रूप से एवं अंतिम अल्टीमेटम दिया गया है, यदि दिए गए समयावधि में तस्वीरे नही लगी तो अभाविप उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगा एवं इसका जिम्मेदार स्कूल प्रबंधन व सम्बंधित अधिकारी होंगे ।
इस दौरान अभाविप के नगर सह मंत्री लखेश्वर वैध , रितेश यादव, अभिषेक राव, उमेश , नरेंद्र कश्यप, जसकेतन सेठिया, पुष्पेंद्र दीवान, सचिन उइके ,ओमप्रकाश कश्यप,महेंद्र देवांगन समेत अभाविप कार्यकर्ता उपस्थित थे।

2 thoughts on “चावरा स्कूल में महापुरुषों की तस्वीर नही होने से एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने दिया प्रबंधन को अल्टीमेटम* 5 दिनों में तस्वीर नही लगाई तो करेंगे उग्र आंदोलन : अभाविप स्कूल परिसर में नही है , स्वामी विवेकानंद , सरस्वती व अन्य महापुरुषों की तस्वीर स्कूल प्रबधंन पर लगाया अपमान व भेदभाव का आरोप पालकों व विद्यार्थियों में भी है नाराजगी जगदलपुर /भानपुरी बस्तर विख के भानपुरी इलाके में मिशनरी संस्था द्वारा संचालित चावरा इंग्लिश मीडियम पर स्थानीय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए , महापुरुषों के साथ धर्मिक भेदभाव का आरोप लगाया है, अभाविप कार्यकर्ताओं ने संस्था की मंशा पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि स्कूल में स्वामी विवेकानंद एवं ज्ञान की देवी सरस्वती व कई महापुरुषों के तस्वीर क्यों नही लगी है, स्कूल में केवल मिशनरी मान्यताओ के तस्वीर व स्टेच्यू सजाई गई है। अभाविप के द्वारा सोमवार को लिखित रूप में स्कूल प्रबंधन से शिकायत की गई है और 5 दिवस का अल्टीमेटम दिया गया है, एवं नही लगाने की कोई वजह हो तो लिखित मांग भी की गई है । ज्ञात हो की पहले भी ऐसे मामले जगदलपुर के निजी संस्थानों में आये थे। अभाविप के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कमलेश दीवान ने कहा कि निजी संस्थाओ द्वारा संचालित स्कूल हमेशा अपनी मनमानी करते हैं , ऐसे संस्थाओं की मंशा पर सवाल उठता है ,महापुरुषों की तस्वीर स्कूलों में नही लगाने का तात्पर्य हमारे महापुरुषों का अपमान है, एवं अशोभनिय कृत्य है, निंदनीय है । अभाविप के नगर मंत्री जागेश्वर कश्यप ने बताया कि स्कूल प्रबंधन को पहले भी इस विषय पर मौखिक रूप चर्चा कर महापुरुषों की तसवीर लगाने को कहा गया था,लेकिन प्रबधन ने कोई पहल नही किया है, आज लिखित रूप से एवं अंतिम अल्टीमेटम दिया गया है, यदि दिए गए समयावधि में तस्वीरे नही लगी तो अभाविप उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगा एवं इसका जिम्मेदार स्कूल प्रबंधन व सम्बंधित अधिकारी होंगे । इस दौरान अभाविप के नगर सह मंत्री लखेश्वर वैध , रितेश यादव, अभिषेक राव, उमेश , नरेंद्र कश्यप, जसकेतन सेठिया, पुष्पेंद्र दीवान, सचिन उइके ,ओमप्रकाश कश्यप,महेंद्र देवांगन समेत अभाविप कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *