November 30, 2021
Breaking News

बच्चों के भविष्य से खिलवाड़, हेडमास्टर छात्र-छात्राओ से करवा रहे हैं बाल मजदूरी

बच्चों के भविष्य से खिलवाड़, हेडमास्टर छात्र-छात्राओ से करवा रहे हैं बाल मजदूरी

हरितछत्तीसगढ़ रौशन वर्मा अंबिकापुर :- जहां सूबे की सरकार द्वारा बेहतर शिक्षा व्यवस्था की बात की जा रही है, ऐसे में सरगुजा जिले के बतौली विकासखंड  के नयाबाँध संकुल केंद्र सरमना के पूर्व माध्यमिक शाला  में पढ़ने वाले 10-12 वर्ष के छात्र-छात्राओं से उनको पढ़ाने की जगह अध्यापकों द्वारा स्कूल के बाहर पडे रेत को  कुदाली से हटवाया जा रहा है ।  इतना ही नही विद्यालय मे संचालित मद्ययान भोजन के बर्तनो को शाला मे अधययनरत छात्राओ से धुलवाया जाता है । आपको बता दे कि इस विद्यालय की छात्राओ को  मद्ययान भोजन के बर्तनो को धोने के लिए स्कूल से लगे नाले मे भेजा जाता है वे नाले मे उतर कर बर्तनो को धोती है और उसी बर्तन मे स्कूल को धुलवाने के लिए नाले का पानी मगवाया जाता है । जिला शिक्षा अधिकारी महोदय जरा गौर से अपने जिले मे संचालित इस स्कूल की बदहाली का दृशय को देख ले, जहां  एक ओर स्कूल पढ़ने आए बच्चे नाले से पानी भर के लाते है तो वही कुछ बच्चे कलम की जगह कुदाली चला रहे है । और वही स्कूल के हेड मास्टर ठंड मे धूप तापते नजर आ रहे है ।

अब सवाल यह उठता है कि आखिर हमारे देश का भविष्य कहे जाने वाले इन बच्चों का भविष्य क्या होगा। जब प्रधानाचार्य द्वारा उनसे बाल मजदूरी करवाई जा रही है।
शिक्षा विभाग की इस लचर व्यवस्था पर मीडिया की नजर पड़ी। यही हमारे देश की बुनियाद है इस तरीके से विद्यालय में शिक्षा की बजाय श्रम मजदूरी करवाई जा रही है। मां बाप के सपने को चूर कर देने वाला यह दृश्य अमानवीय होने का इशारा कर रहा है।

*वर्जन:-*
**आज आपके माधयम से मुझे जानकारी मिली है । मै तत्काल बीईओ बतौली से जाँच करवाता हू । जाँच के दौरान अगर ऐसा होना पाया जाता है तो संबधित प्रधान पाठक पर कार्यवाही की जाएगी ।

संजय गुप्ता
जिला शिक्षा अधिकारी
अंबिकापुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *